Tuesday, May 28, 2013

inferno by DAN BROWN

i n f e r n o

पौराणिकता के प्रतीक; Symbols, और अति आधुनिक _अभी से भी कुछ आगे की_ आधुनिकता (विज्ञान और वैज्ञानिक आविष्कार) का शानदार तालमेल : एक दहशतनाक रोमांचक और लोमहर्षक चमत्कृत थ्रिलर, होर्रिफिक एक्शन पैक्ड, अद्भुद (HORROR-Like) HIGH HEART BEATINGS रहस्य कथा, विलक्षण और नई जानकारियों, ज्ञान-विज्ञान और नए आविष्कारों का विस्तृत विवरण सहित, उसके सदुपयोग-दुरुपयोग से भरपूर, नहीं रुकने वाली, तीव्र गतिशील, नयी कहानी !! ....न पढना नुकसानदेह!
prologue से पहले लेखक महोदय फरमाते हैं, और क्या खूब फरमाते है :
The darkest places in hell are those who maintain their neutrality in times of moral crisis.

FACTS:
All art work, literature, science, and historical references in this novel are real.

"The Consortium" is a private organization with offices in seven countries. Its name has been changed for considerations of security and privacy.

Inferno is the underworld as described in Dante Alighieiri's epic poem "The Divine Comedy", which portrays hell as an elaborately structured realm populated by entities known as "shades" __ bodyless souls trapped between life and death.
--------------------
PROLOGUE:
मैं परछाईं हूँ! (मेरे मन ने मुझे तसल्ली दी; सू-सू कर आया हूँ, डर किस बात का?)
I am the shade.
मैं इस दुखद नगर को छोड़ता हूँ!
अनादि-अनंत कष्ट से होते हुए, मैं भाग रहा हूँ!
Arno नदी के किनारे ...शीघ्रता से, ...मुश्किल से सांस लेते, ...उत्तर दिशा की ओर, ...Uffizi की छायों में छिपते,
...वे अभी भी मेरा पीछा कर रहे हैं!
उनके भारी क़दमों की आवाज़ पूरी दृढ़ता से मेरे पीछे चली आ रही है! सदियों से वे मेरा पीछा कर रहे हैं, ....उनके इस लगातार श्रम ने मुझे ज़मींदोज़ कर रखा था, ...पाप की सजा के लिए मुझे विवश कर रखा था, ...ज़मीन के नीचे, एक दैत्य की तरह ... मैं परछाईं हूँ! I am the shade.
यहाँ अब ज़मीन पर, मैं उत्तर की ओर आँखें उठाता हूँ, ...लेकिन शैतान के प्रभाव से छुटकारे का कोई पथ नहीं, ...भागते हुए; लोहे के दरवाजे, सीढ़ियों के दहाने तक आ गया; यहाँ प्रत्येक हिचकिचाहट को पीछे छोड़ना पड़ेगा! ....मैं अन्दर प्रवेश कर गया, मैं जानता हूँ यहाँ से वापसी नामुमकिन है,....मैं सीढियाँ फलांगता गया, ...
नीछे आवाजें गूँज रही हैं,...वे दृढ़ता से मेरे पीछे आ रहे हैं,... !
उन्हें नहीं मालुम क्या होने वाला है, ...और उन्हें यह भी नहीं मालुम कि मैंने उनके लिए क्या किया है...!
 "कृतघ्न ज़मीन !" 
As I climb, the vision come hard . . . the lustful bodies writhing in fiery rain, the gluttonous souls floating in excrement, the treacherous villains frozen in Satan's icy grip. मैं आखिरी सीढ़ी के बाद ऊपर पहुँच गया,. मृतवत-सा घिसटता हुआ, ...सुबह की नम हवा में, ... शीघ्रता से उँची दिवाल पर चढ़कर मैंने झिर्री से देखा ....दूर नीचे ...इस सौभाग्यशाली-धन्य नगरी को, ....जिसे मैंने अपना अभ्यारण्य, (सुरक्षित विचरण का स्थान) बना रक्खा था, ...और वे, जिन्होनें मुझे निर्वासित कर रक्खा था !
नीचे से आवाज़ गूंजी :"जो तुमने किया वह पागलपन है!"
"पागलपन ही पागलपन को जन्माता है!" Madness breeds madness!
"ईश्वर के नाम पर', ...नीचे से आवाज़ आई, "बतलाओ तुमे इसे कहाँ छिपाया है?"
बिलकुल, ईश्वर के ही नाम पर, मैं नहीं बताऊंगा!
ठंढे पथरीले कोने में मैं खड़ा रहा, उन्होंने मेरी साफ़ हरी आँखों में झाँका, उनके भाव उग्र हैं, कोई नम्रता नहीं, सिर्फ धमकी ! ..."तुम्हें पता है कि हमारी विधियाँ क्या हैं, हम तुम्हें बोलने के लिए विवश कर देंगे कि तुमने इसे कहाँ छिपाया है!"
उसी वजह से मैं स्वर्ग की ओर की आधी दूरी तय कर आया हूँ ...! फिर बिना चेतावनी, मैं दीवाल के शीर्ष पर चढ़, घुटनों के बल बैठ गया, ...फिर खड़ा हुआ, ...अडिग, ...उच्चतम शीर्ष पर, किनारे, ...Guide me dear Virgil, across the void.
अविश्वसनीय-से वे शीघ्रता से मेरी और लपके, ...मेरे परों को पकड़कर, मुझे अपने काबु में करना चाहा, ...पर डरते भी थे, कि उनकी भूल से मैं गिर न जाऊं ! ...और अब, गिड़गिड़ा रहे हैं, ...पर मैंने पीठ फेर लिया,
'...I know what I must do.`
Beneath me, dizzyingly (संभ्रमित, चक्कर से आक्रांत) far beneath me, the red tile roofs spread out like a sea of fire on the countryside, illuminating the fair land upon which giants once roamed . . . Giotto, Donatello, Brunelleschi, Michelangelo, Botticelli.
मैंने अपने (पैरों के) अंगूठे किनारे की और बढ़ाई!
"नीचे आ जाओ', _वे चीखे, "अभी बहुत देर नहीं हुई है ..."
ओ, दुराग्रही अज्ञानियों! क्या तुम भविष्य नहीं देखते? क्या तुम्हें मेरी कृति, मेरे द्वारा निर्मित वैभव /शान का तनिक भी ज्ञान नहीं?
I will gladly make this ultimate sacrifice . . . and with it extinguish your final hope of finding what you seek.
समय रहते तुम इसे कभी न पा सकोगे!
ऊपर से नीचे का दृश्य एक 'मरूद्यान-सा' दीख पड़ रहा है! ....समय का अभाव है, ...इस अंतिम दौर के नन्हें पलों में, नीचे Piazza को मैंने गौर से निहारा, ...मैं भौंचक्का सा हूँ,...
मैंने तुम्हारा चेहरा देखा!!
परछाइयों के पीछे से तुम मुझी को घूर रहे हो। तुम्हारी आँखें विषादपूर्ण हैं! फिर भी मैं देखता हूँ कि इनमें श्रद्धा है; जो मेरी ही उपलब्धि है! तुम जानते मेरे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं!  मानवजाती के नाम पर, मैं अपनी उत्कृष्ट कृति की अवश्य रक्षा करूँगा!
It grew even now . . . waiting . . . simmering beneath the bloodred waters of the lagoon that reflects no stars.
अतः, मैं अपनी आखें तुमपर से हटाकर क्षितिज को ध्यान से देखता हूँ,; भार तले दबे इस संसार से ऊपर देखते हुए मैं अपनी अंतिम प्रार्थना करता हूँ .....
Dearest God, I pray the world remembers my name not as a monstrous sinner, but as the glorious savior you know I truly am. I pray Mankind will understand the gift I leave behind.
My gift is the future,
My gift is salvation,
My gift is Inferno.
With that, I whisper my amen . . . and take my final step, into the abyss.
______________________________
यादें पानी के बुलबुले की तरह सतह पर आकर फूट रही हैं!
एक झीने नकाब वाली औरत...
रोबर्ट लैंग्डन उसे टकटकी लगाय देख रहा है, वो एक सिरे से दुसरे सिरे तक बहती खून की नदी के किनारे खड़ी है! उस औरत का चेहरा उसी की तरफ है! उसने हाथों में नीले रंग का कपडा पकड़ा हुआ है! वह लाशों से भरी इस नदी के सम्मान में उसे ऊँचा उठती है, ...'पता लगाओ!' वो बोली, '...ढूंढो,..!' रोबर्ट को लगा जैसे ये शब्द किसी ने उसके दिमाग के भीतर कहे हों! '...कौन हो तुम?' रोबर्टने उससे पूछा! पर उसकी आवाज़ नही फूटी! उस औरत ने फिर कहा :"Time goes short, she whispered, 'seek and find.' रोबर्ट ने उसकी तरफ क़दम बढ़ाए, ...पर वह खून की नदी दुर्गम है, रोबर्ट ने देखा उस औरत के क़दमों में लाशें-ही लाशें पड़ी हैं जिनकी संख्या बढती जा रही है,... कुछ अधमरे शरीर बेदना और यातना से खून उगलते और चीखते, छटपटा रहे हैं, कुछ के शरीर सिर के बल खून के और लाशों के दलदल में आधे डूबे अपने पैरों को झकझोर रहे हैं, ...वह औरत रोबर्ट की तरफ अपना हाथ बढ़ाती है, ...रोबर्ट लैंग्डन जोर से चीखा "कौन हो तुम?" प्रत्युत्तर में वह औरत उसके समीप आकर अपना नकाब हटाती है : वह असाधारण, और अनिन्द्य सुंदरी महिला की उम्र (60)-साठ वर्ष लगती है, उसके बाल जैसे चाँदी के तार हैं, झिलमिला रहे हैं, ...रोबर्ट को लगा जैसे वह उसे पहचानता है;...'But how? Why?' वो छटपटाते पैरों की ओर इशारा करती है, ...एक की जांघ पर कीचड़ से -"R"- लिखा हुआ दिखा, ".... R?" Langdon thought, uncertain, "As in . . . Robert?" "Is that me?" The woman's face revealed nothing. `Seek and find,` she repeated.
Without warning, she began radiating a white light . . . brighter and brighter. Her entire body started vibrating intensely, and then, in a rush of thunder, she exploded into a thousand splintering shards of light. 
 ~~~~~~~~~~ *****~~~~~~~~~~  
रोबर्ट लैंग्डन चीखता-चिल्लाता हुआ उठा! चारों तरफ मेडिकल अल्कोहल की बू है! वह एक हॉस्पिटल बेड पर है! उसकी एक बांह में IV-ड्रिप लगी है! उसके पुरे शरीर में दर्द है! सबसे ज्यादा दर्द, जलन और पीड़ा उसके सर के पिछले हिस्से में हैं, वो स्वतंत्र हाथ से अपने सिर के दर्द वाले स्थान को छूता है,..कई टांकें लगे हैं! ....वह हैरान है, परेशान हैं,... उसे कुछ भी याद नहीं कि वो कहाँ है, और उसकी यह दशा कैसे हुई!? '...जरूर मेरा भारी एक्सीडेंट हुआ होगा!' उसकी नज़र दूर काउंटर पर पड़ी, एक ट्रांसपेरेंट प्लास्टिक बैग में उसका फेमस 'हैरिस-ट्वीड कोट' खून से लथपथ रखा दिख रहा है! उसके शरीर से जुड़े कई ट्यूब्स और वायर से सम्बंधित यंत्र अनियंत्रित हो कर अपनी अलार्म बजाने लगते हैं! एक उम्रदराज दाढ़ी मूँछ वाला डॉक्टर आकर उसे अटेंड करता है! रोबर्ट उससे बेतहाशा सवाल पूछने लगता है, तब वो जाकर एक महिला डॉक्टर को बुला लाता है! इस बीच कमरे की तेज रौशनी में खिड़की के बाहर उसे सिर्फ अँधेरा दिखाई दिया, और शीशे में उसे अपना अक्स दिखा जो घायल और कमजोर है! उस 32-वर्षीय महिला डॉक्टर का नाम डॉक्टर सियेना ब्रूक है; उसके खुबसूरत, ब्लोंड बाल पोनी-टेल स्टाइल में कसे बंधे हैं! वो उम्रदराज डॉक्टर मार्कोनी से उसका परिचय कराती है! डॉक्टर मार्कोनी को इंग्लिश इसलिए नहीं आती; क्योंकि श्रीकांत तिवारी जी को भी इंग्लिश की आंएँ-बांएँ-शांएँ आज तक (without any assistance) -बोलना-लिखना- नहीं आया! Doctor Sienna Brooks, बड़ी दक्षता से रोबर्ट का परिक्षण करती है, उससे चीखकर उठने पर सवाल करती है तो रोबर्ट उसे अपने भयानक सपने के बारे में बतलाता है! डा . सियेना उसे उत्तेजित पाकर डॉक्टर Marconi को एक सेडेटिव तैयार करने को कहती है! डा.सियेना, रोबर्ट के कुछ जरुरी लेकिन आसान से सवाल सिर्फ रूटीन चेक के लिहाज़ से; यादाश्त परिक्षण, करती है, तब उसे पता चलता है कि रोबर्ट लैंग्डन, एक अमेरिकन हैं, हार्वर्ड युनिवेर्सिटी के माननीय आर्ट, हिस्ट्री टीचर और विश्व प्रसिद्द प्रतीकशास्त्री / SYMBOLOGIST हैं! नाम, पता, परिवार_(रोबर्ट लैंग्डन, सिंगल, बैचलर-हुड प्रेमी) वह तसल्ली के लिए दिन तारीख पूछती है :"Okay Mr. Langdon, " she said still writing, "A couple of routine questions for you. What day of the week is it?
Langdon thought for a moment. "It's Sunday. I remember earlier today walking across campus ... going to an afternoon lecture series, and then ... that's pretty much the last thing I remember. Did I fall?"
"We'll get to that. Do you know where you are?"
Landon took his best guess, "Massachusetts General Hospital?"
Dr. Brook made another note. "And there someone we should call for you? Wife? Children?" 
"Nobody."
डॉक्टर्स उसे बताते हैं कि जब वह हस्पताल में आया था _(when 'you arrived' tonight...)_ वह कुछ बडबड़ा रहा था जिस रिकॉर्ड किया गया था, उसे रिकार्डिंग सुनाई जाती है, वो बोल रहा है : `Ve.....sorry. Ve.....sorry.' जैसे कह रहा हो "वैरी सॉरी, वैरी सॉरी", ऐसा वो क्यों कह रहा था उसे याद नहीं! उसे फिर सपने में दिखी औरत का सुन्दर चेहरा याद आता है, जो खून बहती नदी किनारे लाशों के दलदल के पास खड़ी उसे कुछ ढूंढने को कह रही होती है! उसके जिस्म से सम्बंधित मेडिकल उपकरणों की अलार्मिंग आवाज़ के आधार पर सेडेटिव उसेके IV-ड्रिप में इंजेक्ट कर दिया जाता है! और लिटाकर, आराम करने की हिदायत कर एवं अलार्म बेल की स्विच जो उसके बेड पर लगी होती है उसे समझाकर, कमरे की बत्ती बंदकर डॉक्टर्स चले जाते हैं! अब अँधेरे कमरे से बाहर शहर की skyline ने नज़ारे दिख रहे हैं! उन्हें देखते-देखते, और प्रसिद्द टावर को पहचानते ही रोबर्ट लैंग्डन बुरी तरह चौंकता हुआ सभी दर्द भूलकर तेज़ी से उठ बैठता है, बाहर के नज़ारे मेस्साचुसेत्ट्स (Massachusetts USA) के नहीं उससे 4000-मील दूर के एक सुप्रसिद्ध शहर के हैं!
----------------------
-Via Torregalli- के बाहर शक्तिशाली शारीरिक बनावट वाली एक चुस्त-चपल औरत एक भारी भरकम BMW- motorcycle से उतरती है! चीते जैसी चपल चाल से चलती वह अपने शिकार के पीछे है! उसके सर के बालों का स्टाइल Spike-Stood (मैंने ये समझा : जैसे gel के प्रयोग से कांटे ही कांटे बनाय गए हों!) है! जिस्म पर काली black leather riding suit है! उसकी नज़रें तेज़ हैं! शक्तिशाली दृढ चाल से चलती उस औरत के हाथ में silenced weapon हैण्ड-गन है! आज रात एक ओरिजिनल मिशन में वो चूक गई है;  
The coo of a single dove had changed everything.
Now she had come to make it right.
-----------------------
"मैं -" फ्लोरेंस "- में हूँ!?" I'm in Florence!? वह तेज़ी से लगातार अलार्म् स्विच दबाय जा रहा था! Dr. Brook जल्द वहां आ गई और रोबर्ट को संभाला! "...मैं ....ईटली में हूँ!!??" 
"Good You're remembering." 
"No!" Langdon pointed out the window at the commanding edifice in the distance. "I recognize the Plazzo Vecchio."
 डॉक्टर सियेना ब्रूक, रोबर्ट लैंग्डन को समझाती है: '...Mr. Langdon, there's no need to worry. You're suffering from mild amnesia. But Dr, Macroni confirmed that your brain function is fine." डॉ.मार्कोनी भी आ गए थे! रोबर्ट, उत्तेजना और सेडेटिव की मिश्रित असर में था, वह कई सवाल पूछना चाहता था! "What happened to me.?" he demanded. "What day is it?"
"Everything is fine," she said,:"It's early morning. Monday. March eighteenth."
'................That was two days ago!?' The 'ping' of the heart monitor accelerated.
"You're going to be okay." डॉक्टर्स ने फिर से उसके यादाश्त का पुनर्परीक्षण किया! "...Fine!'
"How did I get here?" वह फिर बेचैन हुआ। The 'ping' of the heart monitor accelerated.
डॉक्टर सियेना ब्रूक ने बताया कि अब से तीन घंटे पहले वह हॉस्पिटल के इमरजेंसी रूम में लडखडाते खून से लथपथ आया था: "...bleeding from a head wound, and you immediately collapsed. किसी को तुम्हारे बारे में कुछ पता नहीं था; तब डॉक्टर मार्कोनी ने तुम्हें संभाला, I am on sabbatical here from U.K." रोबर्ट और परेशान हो उठा "What the hell I'm doing in Italy?" बेचैन और उत्तेजित रोबर्ट को सेडेटिव और ज़ख़्मी हालत में सख्त आराम की जरुरत थी, वर्ना उसे hemorrhage का घातक खतरा था! ...........तभी बाहर से शोर-शराबे की आवाज़ के साथ डॉ मार्कोनी के लिए सन्देश गूंजा जिसे उसने रिसीव किया तो पता चला कोई रोबर्ट लैंग्डन से मिलना चाहता है, लेकिन ICU में समय से पहले उन्हें कैसे जाने दिया जाय?; और आगंतुक मानने को राज़ी नहीं! रोबर्ट लैंग्डन को थोड़ी उम्मीद जगी कि कोई जानकार आया है;.... इधर डॉ सियेना ब्रूक ने रोबर्ट से कहा कि पिछली रात की कुछ ऐसी बातें हैं जो वह नहीं जानता! "...जैसे आपको हुआ क्या?" "...और इससे पहले कि आप किसी और से बातें करें, मैं सोचती हूँ आप सभी हक़ीक़तों से वाकिफ हो लें! और दुर्भाग्य से आप अभी इतने तंदुरुस्त नहीं कि ..."
"कैसी बातें? कैसी हकीक़तें?" IV उसके जिस्म से दूर रहने से निडिल चुभी, फिर भी वो बोलता रहा : "मैं सिर्फ इतना जानता हूँ कि मैं 'फ्लोरेंस' के एक अस्पताल में हूँ जहाँ मैंने '-वैरी सॉरी-' जैसे कुछ शब्द कहे ...." "मुझे क्या हुआ था, कैसे और किस तरह मेरे सिर के पीछे चोट लगी कि मैं इतना घायल हो गया कि मेरे कपडे तक खून से तर हो गए?" तब डॉ सियेना ब्रूक ने आखिरकार बताया: 'आप पर गोली चलाई गई थी!! गोली आपके सिर में, बिना खोपड़ी चठकाय, आपकी सिर के पीछे एक लम्बा चीरा-सा लगाती गुजर गई, अगर गोली एक इंच नीचे होती तो...!' "रोबर्ट लैंग्डन सन्न रह गया! तभी बाहर से ऊँचा और गुस्से में बोलने का शोर आया, और दरवाजे खुलने-पटकाने की जोर की आवाज़ आई! सबने देखा काले चमड़े के सूट पहने एक कंटीले, खड़े बालों वाली कद्दावर औरत उनकी और चली आ रही है, बिना कुछ भी समझे डॉ मार्कोनी कमरे से बाहर आकर उस औरत को रोकने को सोच ही रहे थे कि उस औरत ने अपने हाथ में थामे गन से डॉ मार्कोनी को शूट कर दिया, डॉ मार्कोनी पछाड़ खाकर गिरे और बिलखती हुई डॉ सियेना की बाहों में गिरकर मुँह से खून की उलटी करते प्राण त्याग दिए!! दहशत से जडवत रोबर्ट लैंग्डन ने देखा कि अब वो औरत गन का रुख उसकी और कर ट्रिगर दबा रही है! रोबर्ट लैंग्डन ने सोचा "I'm going to die. Here and Now!..तो मैं ऐसे मरने वाला हूँ(हा हा!)!?" गोली चली! और जोरदार आवाज़ से ICU का लोहे का दरवाजा; डॉ सियेना ने; धडाम से बंद कर अन्दर से बोल्ट कर दिया! गोली लोहे की चदर पर एक उभार मात्र बना सकी! फिर उस दरवाजे पर गोलियों की बारिष सी होने लगी! यहाँ से डॉ सियेना रोबर्ट को घसीटते हुए, जिससे IV की निडिल से रोबर्टका हाथ घायल हो गया और उससे खून रिसने लगा! फिर भी सियेना ने, काउंटर पर प्लास्टिक बैग में रखे रोबर्ट लैंग्डन के कोट और कपड़ों को उठा लिया! ("...अर्र्रे, छोड़ो उन्हें,_रोबर्ट ने सोचा!) और अस्पताल के भीतरी कई भागों से गुजरते, लिफ्ट से नीचे आकर जबरन एक टैक्सी में बैठे ही थे कि उनके पीछे गोलियां चलने लगीं! एक गोली ने ड्राइवर्स साइड मिरर को फोड़ गिया दूसरी ने पिछली सीट के शीशे के परखच्चे उड़ा दिए जिसके कांच की बौछार, शावर की तरह रोबर्ट और सियेना पर गिरे! तब कहीं जाकर 'ऊंघते, अकडू' ड्राईवर को गाडी भगानी सूझी! 
------------------------
ईटली की COST से 5-मील परे, समुद्र में 237-FOOT LUXURY YACHT the 'Mendacium' (दी मेंडासियम) सांझ ढले तैर रही है! ...with a price tag of over 300 million U.S. dollars, the craft boasted all the usual amenities __ Spa, Pool, Cinema, Personal submarine, and helicopter pad........{इस यौट के कर्मी, मालिक से ज्यादा अपने काम और काम के लिए उपलब्ध साजोसामान से प्यार करते है!}__ A lead-lined, military grade, electronic command center. _______(ढन-.....टा ......नाँ...आआआ__न !) Fed by three satellite links and a redundant array of  terrestrial relay stations, the control room on The Mendacium had a staff of nearly two dozen  __ technicians, analyst, operation coordinators __ who lived on board and remained in constant contact with the organization's various land-based operation centers.
The ship's on board security included a small unit of military-trained soldiers, two missile-detection systems, and an arsenal of of the latest weapons available. Other staff __ cooks, cleaning, and service __ pushed the total number on board to more than forty. The Mendacium was, in effect the portable office building from which the -owner- ran his empire. उसे सार स्टाफ "the provost" के नाम से जानता है!! {इस नाम को बड़ी सरलता से सिम्पली by small letters, without any "inverted commas", or bold letters से छापा गया है!} इसका हुलिया कोई खासियत के बगैर सामान्य-सा है! यह और भी कई नामों से जाना जाता है : जैसे : ~ a soulless mercenary, a facilitator of sin, the devil's enabler __पर ये ऐसा कुछ नहीं लगता! the provost अपने क्लाइंट्स को सिर्फ इतना ही पाने का अवसर देता है कि उनकी आकांक्षाएं और इच्छाएं बिना कोई प्रतिष्ठा को हानि पहुंचाये पूरी कर सके! प्राकृतिक पाप से उसका क्या लेना-देना भला; ये उसकी समस्या नहीं है! इस प्रकार वह ज्यादा प्रतिष्ठित, और मांग में रहता है! उसका उसूल है: Never make a promise you cannot make. And never lie to a client. Ever. अपने पेशावर करियर में उसने कभी कोई वादा नहीं तोड़ा है! उसके शब्द - पूर्ण गारंटी की हैसियत रखते हैं! वह अपने प्राइवेट बालकनी में खड़ा समुद्र की हवा को सूंघते सोच रहा है :" The decisions of our past are the architects of our future." लेकिन आज ईटैलियन मेनलैंड को देखते उसे सोचना पड़ रहा है कि कुछ ऐसा हुआ, जो असामान्य है! एक साल पहले इसी यौट पर उसने किसी से एक वादा किया था जिसकी जटिलता उसके आजतक के निर्मित हर चीज़ के लिए एक खतरा/धमकी-सी प्रतीत हो रही है! "I agreed to provide services to a wrong man." और अब उसे लग रहा है कि उसे अपने चुनिन्दा बेस्ट एजेंट्स को फील्ड में भेजना पड़ेगा इस आदेश के साथ कि :"whatever it took', to keep his listing ship from capsizing."  'VAYENTHA" वायेंथा ; उसकी फील्ड एजेंट, कांटेदार हेयर स्टाइल वाली लड़की; जिसने इस मिशन से पहले कभी उसे निराश नहीं किया था; ने कल रात एक ऐसी भूल/गलती कर दी है, वो भी एक कबूतर की coo की वजह से !?; जो उसकी अब तक की प्रतिष्ठा के लिए बुरा है! आज तक उसके सर्विस के रिकार्ड पर कोई ऊँगली नहीं उठी थी! Control was the provostt's expertise. सफलता और गोपनीयता उसका रिकार्ड रहा है! उसके क्लाइंट्स हैं _billionaires, politicians, sheikhs, and even entire governments. पूर्व में सूरज की उदीयमान लालिमा दिख रही हैं, और अपने डेक पर खड़ा provost, वायेंथा की तरफ से सुनना चाहता था कि सबकुछ प्लान के मुताबिक निष्पादित किया जा चुका था; (अंज़ाम तक पहुंचाया जा चूका था!)!
...तभी आतुर व्याकुल provost के कंप्यूटर स्क्रीन पर वायेंथा का कॉल आता है; वह नर्वस है! :"Langdon has escaped', she said, 'he has the object."
"Understood," the provost finally said,"I imagine he will reach out to the authorities as soon as possibly he can."
...........................
the 'Mendacium' (दी मेंडासियम) Two deck below the provost, in the ship's secure control center, senior facilitator Laurence Knowlton (लौरेंस नोल्टन) ने पाया कि provost का encrypted call पूरा हो चूका है! उम्मीद है, अच्छा समाचार ही होगा! दो दिनों से provost का तनाव नाज़ुक स्थिति में है! सभी स्टाफ को आभास है कि कोई ऐसा मिशन चल रहा है जिस पर भारी दांव लगे हैं! समूची दुनियां में इस के अलावे भी और कई महत्वपूर्ण मिशन चल रहे हैं; लेकिन provost का ध्यान इसी ख़ास मिशन पर ज्यादा है; जिसके लिए वायेंथा काफी थी! एक निष्ठावान कर्मचारी की तरह लौरेंस नोल्टन के विचार सिर्फ अपने काम और उसे मिले आदेश का पालन करने में लगे रहते हैं! वह अपने क्यूबिकल से निकल कर आगे बढ़ता है, कई और क्युबिकल्स जिनमे कुछ के शीशे ट्रांसपेरेंट हैं तो कुछ के ओपेक! इनके भीतर सभी स्टाफ इसी मिशन पर जुटे हैं! एक कमरे से वो एक लाल मेमोरी-स्टिक, जिसमे एक ख़ास विडियो फाइल है, चुनकर अपने साथ लेकर वापस अपने क्यूबिकल में आ बैठता है, फिर एक स्विच ऑन करते ही उसका पारदर्शी क्यूबिकल; गहरा दुधिया, धुंधला; -opaque- हो जाता है! इस वैज्ञानिक पद्धति को "Suspended particle device" SPD glass कहते हैं! (पूरी जानकारी के लिए किताब पढ़िए!) इस गुमनाम, रहस्यमय विडियो फाइल को आज नियमानुसार review कर अपडेट करना और रिपोर्ट दाखिल करना है! Knowlton मेमोरी-स्टिक को कंप्यूटर में इन्सर्ट करता है, शीघ्र ही उसके स्क्रीन पर काली तस्वीर और स्पीकर्स से पानी के भीतर 'चलायमान पानी' की आवाज़ आने लगती है! आश्चर्यजनक ढँग से जैसे पानी खुद-बा-खुद रौशन होती है, जैसे अन्दर से रौशनी बाहर एमिटेड हो रही हो! एक गुफा का दृश्य उभरता है, रौशनी में लाल रंग की आभा (Tint) है! Knowlton ने ऐसा पहले कभी नहीं देखा है! :"What . . . is this place?" कैमरा सीधे नीचे रौशन गुफा की गहराई में उतरता जा रहा है, जबतक कि वह रौशनी के श्रोत तक नहीं पहुँच गया; Shimmering; चमचमाता हुआ टाईटेनीयम (Titanium) का एक Plaque; प्लेट(फलक) है, जिस पर ये अक्षर गुदे हुए हैं :
IN THIS PLACE, ON THIS DATE 
THE WORLD WAS CHANGED FOREVER
Engraved at the bottom of the plaque was a name and a date. The name was that of the client. The date . . . tomorrow.
___________________________________
डॉ. सियेना ब्रूक लडखडाते रोबर्ट लैंग्डन को बहुत मशक्कत कर के सीढ़ियों द्वारा ऊपर अपने घर ले आती है! sedative के असर से रोबर्ट लैंग्डन की दृष्टि धुंधली है। उसके हैरिस-ट्वीड जैकेट/कोट को उसकी बांह पर कसकर बाँधा गया था ताकि ज्याद खून न बहे! लिफ्ट द्वारा ऊपर चढ़ते वही (Hallucinating)...मतिभ्रम;  वह फिर वही दृश्य देखा रहा है : नकाबधारी औरत, जो जब नकाब हटाती है तो एक देवी सी सुन्दर साठ-वर्षीय वृधा, जिसके चांदी से बाल हैं, उसे अपनी ओर बुला रही है, "Seek and Find"_वो कहती है! रोबर्ट लैंग्डनके दिमाग के भीतर ये स्वर गूंजे! फिर उसने देखा, खून की नदी, असंख्य लाशों और अधमरे, मृत्यु की ओर अग्रसर खून के दलदल में उलटे शरीर और उनके छटपटाते पैर, एक की जांघ पर "R" लिखा है, रोबर्ट लैंग्डन:"Who are you?" he called out in silence, "What do you want." उसके चाँदी के बाल हवा में लहरा रहे हैं : "Our time grows short."_She whispered. फिर बिना चेतावनी वह एक तीव्र प्रकाश पुंज में बदलकर; प्रस्फुटित होकर कई-कई नन्हे सितारों में विलीन हो गई! रोबर्ट लैंग्डन ने चिल्लाकर आँखें खोली! डॉ सियेना के चौंक कर पूछने पर उसने फिर इस hallucination के बारे में बताया! उसने फिर वही दृश्य देखा है! डॉ सियेना से उसे आश्वाशन दिया। वे डॉ सियेना के अपार्टमेंट में पहुंचे! डॉ सियेना रोबर्ट लैंग्डन को सिडेटिव के असर से उबरने के लिए कुछ कैफीन के चोकलेट्स जैसे दाने चाबने को दिये और कुछ दवाईयाँ दी, फिर उसके घायल हाथ का उपचार किया! रोबर्ट लैंग्डन अब कुछ अच्छा महसूस कर रहा है, लेकिन उसके सिर का घाव उसे अभी भी दर्दनाक पीड़ा दे रहा है! "क्या मुझे अमेरिकन कांस्युलेट, कोई ऑथोरिटी, या पुलिस से संपर्क नहीं करना चाहिए? रोबर्ट लैंग्डन ने सियेना से पूछा ! पहले तुम मुझे डॉक्टर कहना बंद करो! इस प्रकार वे औपचारिक शब्दों को छोड़ ज्यादा फ्रैंक हुए! यहाँ रोबर्ट लैंग्डन को ख्याल आया कि उसकी 40-साल पुरानी एंटिक मिक्की-माउस घडी मिसिंग है! सियेना को भी पता नहीं! वो उसे बाथरूम में छोड़कर पड़ोस से रोबर्ट लैंग्डन के लिए मुनासिब कपडे लाने चली जाती है ताकि पुलिस, या कोई ऑथोरिटी के सामने वो ढंग से पेश हो सके!
-----------------------
रोबर्ट लैंग्डन फ्रेश होकर; एक तौलिया कमर में लपेटे; बाथरूम से बाहर आता है! "कौन और क्यों मुझे मारना चाहता है? सोचो रोबर्ट सोचो! उसे कुछ याद नहीं! और 'मैं फ्लोरेंस, ईटली, में क्यों हूँ??' फ्लोरेंस _इन्ही की गलियों में कभी 'माइकल-एंजेलो' खेला करते थे! रोबर्ट लैंग्डन डॉ सियेना के फ्लैट में विचरता है तो उसे लैपटॉप दिखाई पड़ता है, उसे चालूकर वह इन्टरनेट पर अपने बारे में ताज़ी घटनाओं की छानबीन करता है, कुछ नहीं, सिर्फ काम काम काम और प्रशंसा! लगता है किसी को पता नहीं कि मैं लापता हूँ! वह लैपटॉप बंद कर देता है! फ्लैट में रोबर्ट लैंग्डन को डॉ सियेना के बारे में उसके टेबल पर रखे डायरी, और अन्य कागजातों, और तस्वीरों के द्वारा बचपन से लेकर हाल तक की जानकारी हासिल होती है! सियेना एक अद्भुद लड़की रही है, बिलक्षण! God-gifted & Blessed! शानदार और काबिलेतारीफ, 208-IQ वाली विलक्षण बच्ची! जो जन्म से ही एक सेलिब्रेटी जैसी ख्याति रखती है! उसकी Extraordinary विलक्षणता एक तरह से उसके लिए एक श्राप भी थी। वह स्कूल में नहीं टिक पाई; क्योंकि सभी उसे चिढाते थे! और वह 10-वर्षों तक एक अज्ञातवास सा जीवन जीते, उसने अपनी शिक्षा पूरी की थी! ऐसी बच्ची के प्रति रोबर्ट लैंग्डन का दिल भर आया! उसने सभी कागज़ात वापस सुरक्षित रख दिए! उन कागजातों के cover पर लिखा था :"Sweetheart, never forget you are a miracle." Cover पर पौराणिक ग्रीक Symbol _ Comedy एंड Tragedy (La maschere) का निशान है! ...अचानक रोबर्ट लैंग्डन की हालत फिर बिगडती है, वह बेहोशी की अवस्था में फिर से वही दृश्य देख रहा है: चाँदी के बालों वाली नकाबपोश महिला, खून की नदी और असंख्य लाशें, और अधमरों की भयानक चीखें!! "Seek and Find" the woman called to Langdon. रोबर्ट लैंग्डन फिर पूछता है,:"Who are You?" Once again the woman reached up and lifted her veil to reveal the same striking visage that Langdon had seen earlier. 
"I am life," ''मैं ज़िन्दगी हूँ!'' she said.
Without warning a colossal image materialized in the sky above her __ a fearsome mask with a long, beaklike nose and two fiery green eyes, which stared blankly out at Lngdon.
"And . . . I am death", ''और .....मैं  मौत हूँ!!'' the voice boomed.
----------------------
रोबर्ट लैंग्डन ने पसीने-पसीने हो, हड़बड़ा कर आँखें खोली :"What the hell in happening to me?" The images of silver-haired woman and the beaked mask lingered in his mind : I am life. I am death. अपार्टमेंट के फोन की घंटी बजी, रोबर्ट ने उठ खड़े होकर सियेना को पुकारा, वह अभी तक नहीं लौटी थी, फोन के beep के बाद कॉलर की आवाज़ सुनाई दी: Hospital से Danikova -सियेना की तरह एक डॉक्टर- ने फोन किया है, उसकी आतंकित आवाज़ टूटी-फूटी English में काँप रही है: "...सियेना! तुम्हारे मित्र डॉ मार्कोनी मर चुके हैं, Hospital is going crazy, पुलिस आई! लोगों ने बतला दिया है कि तुम एक मरीज़ के साथ, उसे बचाते हुए, भागी हो!! क्यों? तुम तो उसे जानती तक नहीं! और अब पुलिस तुमसे सवाल करने के लिए तुम्हें ढूंढ़ रही है! They take employee file! मैं जानती हूँ उस फाइल में सभी सूचनाएं गलत हैं : "I know information wrong -- bad address, no numbers, faking working visa -- so the no find you today, but soon they find! I try to warn you, so sorry, Sienna." The call ended. रोबर्ट लैंग्डन आत्मग्लानी से भर उठा! डॉ मार्कोनी ने सियेना को हॉस्पिटल में काम दिया था! उसकी वजह से डॉ मार्कोनी की जान गई! और अब एक अजनबी को बचाने में लगी डॉ सियेना का भविष्य दांव पर है! फोन फिर बजा, वह जानता है, सियेना क्या सुनने वाली है! मरीजों वाले कपड़े उतारे वह सिर्फ टॉवल लपेटे; पदाचाप सुनकर (रोबर्ट) बाथरूम में चला गया! पश्चाताप से भरा हुआ! तभी सियेना ने knock किया, "Door-knob पर तुम्हारे लिए कपडे हैं!"
-------------------
सियेना अपने बेडरूम में जाती है! आईने में खुद को देखती है और अपने ब्लोंड-पोनी-टेल बालों वाली 'विग' उतार देती है!!! उसके सिर पर बाल नहीं हैं, bald scalp !!! गंजी !!! उसने अपने जीवन में कई चुनौतियों का सामना किया है! फ्रेश होकर कपड़े बदलकर उसने वापस अपना 'विग' पहना! वर्तमान हालातों से पहले भी खुद पर तरस खाती वह कई विषमताओं से कभी रोते, तो कभी आंसू पीते, जूझती रही है, ...और अब फिर, ...असकी आँखें भर आईं! 'होने दो जो होना है!' उसने आंसुओं को भी नहीं रोका! और वह रोई! वह रोई इस जीवन पर, जिसपर उसका कोई नियंत्रण नहीं! वह रोई अपने विश्वसनीय (Mentor) पितृतुल्य के लिए, जिसने अभी उसकी बाहों में दम तोड़ दिया! वह रोई अपने अकेलेपन के लिए! पर इन सबसे ज्यादा वह रोई अपने आगामी भविष्य के लिए, जो अचानक अनिश्चित-सा हो चूका है!!
-------------------
237-FOOT LUXURY YACHT the 'Mendacium' (दी मेंडासियम) के निचले डेक पर लौरेंस नोल्टन आश्चर्य से अपने कंप्यूटर स्क्रीन पर चलते विडियो को देख रहा है! वह व्याकुल और बेचैन है! "I'm supposed to upload this to the media tomorrow morning?" Consortium के साथ काम करते उसे अपने 10-वर्षीय करियर की याद आई! We follow though. No questions asked. No matter what. इस विडियो को Update करने में वह खुद को असहज पा रहा है! पहले उसने कई विचित्र अभियानों में बेहिचक काम किया, ...लेकिन आज, ...अभी, :"....this video was baffling. चक्कर में डालने वाला, ...Something about it felt different. Much different." उसने Re-Play कर उस विडियो को फिर देखा : लाल आभा से रौशन पानी की निचली गुफा के भीतर कीचड़ भरी कंदरा की सतह पर ....और उसने फिर पढ़ा :
IN THIS PLACE, ON THIS DATE
THE WORLD WAS CHANGED FOREVER
That the polished plaque (फलक) was signed by the Consortium's client was disquieting (बेचैन करने वाला है!). Camera, Pan होकर बायीं ओर का दृश्य दिखला रहा है, एक चौंका देने वाली वस्तु उस फलक के ऊपर मंडरा रही है!! एक पतले कमजोर धागे से बंधा एक प्लास्टिक गोल बैलून तैर रहा है; जिसमे हीलियम गैस की जगह Gelatinous (Explosive) Yellow-Brown-Liquid भरा हुआ एक फुट व्यास का है। ...'Jesus!'.....एक नई तस्वीर उभरती है,....लाल आभा लिए प्रकाश में गहरी गुफा की कंदरा की दीवाल से सटा कोई खड़ा है! एक परछाईं!! the shadow of a man . . . standing in the cavern. लेकिन इस "आदमी" का 'सर' बुरी तरह विकृत है ! ....but the man's head was misshapen badly. ...नाक किसी पक्षी के चोंच की तरह हैं, ...जैसे खुद आधा पक्षी हो, ...वह डरावनी वाकपटुता से बोल रहा है, ...नपे-तुले लहजे में, ...जैसे किसी पौराणिक क्लासिकल का नरेटर हो! As the beaked shadow spoke _लौरेंस नोल्टन की भय के मारे हालत खराब है; ...वह बड़ी कठिनाई से सांस ले पा रहा है! ...
I am the shade.
If you are watching this, then it means my soul is finally at rest.
Driven underground, I must speak to the world from deep within the earth, exiled to this gloomy cavern where the bloodred waters collect in the lagoon that reflects no stars.
But this is my paradise . . . the perfect womb for my fragile child.
Inferno.
Soon you will know what I have left behind.
And yet, even here, I sense the foothills of the ignorant souls who pursue me . . . willing to stop at nothing to thwart my actions.
Forgive them, you might say, for they know not what they do.
But there comes a moment in history when ignorance is no longer a forgivable offense . . . a moment only wisdom has the power to absolve.
With purity of conscience, I have bequeathed to you all the gift of Hope, of salvation, of tomorrow.
And yet, still there are those who hunt me like a dog, fueled by the self-righteous belief that I am a madman. There is the silver-haired beauty who dares call me a monster! Like the clerics who lobbied for the death of Copernicus, she scorns me as a demon, terrified that I have glimpsed the Truth.
But I am not a prophet.
I am your salvation.
I am the shade.
__________________________________________
डॉ सियेना ब्रूक के अपार्टमेंट में सियेना, रोबर्ट लैंग्डन को फिर चेक कर संतुष्ट होती है कि उसकी यादाश्त ठीक है, और वह अब ठीक लग रहा है। रोबर्ट लैंग्डन, सियेना को अपने नए सपने (Hallucination) के बारे में बतलाता है! इस बार वह ये भी बतलाता है कि नकाबपोश चाँदी के बालों वाली औरत के क़दमों में दम तोड़ते एक की जाँघ पर कीचड़ से "R" लिखा हुआ था! फिर वह उसे चोंच सी मास्क वाले के बारे में बतलाया! "I am death?" .....बातचीत से कोई समाधान नहीं सूझा! पर उसे भूलना रोबर्ट लैंग्डन के लिए बहुत कठिन था! सियेना कह रही थी : "...And she keep telling you 'seek and find.?" "हाँ, पर ...क्या??" 
"रोबर्ट मुझे लगता है तूमने उसे पहले ही ढूंढ़ लिया है !" यह कहकर सियेना, रोबर्ट को बुरी तरह चौंका देती है! "क्या कह रही हो तुम!" रोबर्ट चकराया, "मैं तो जानता तक नहीं कि आखिर मुझे ढूंढना क्या है!?" सियेना बतलाती है,:"कल जब तुम हॉस्पिटल आये थे तब वह तुम्हारे कोट के पॉकेट में था!" बुरी तह से हकबकाए हुए रोबर्ट का कोट उसने प्लास्टिक बैग से निकलकर उसे दिया :"इसीलिए मैं वहां से भाग निकलते वक़्त इसे उठा लाइ थी!" रोबर्ट ने कोट की सभी पॉकेट्स खंगाल डाले :"कुछ नहीं!?" सियेना मुस्काई :"सीक्रेट पॉकेट को तो तुमने देखा ही नहीं!!" _"सीक्रेट पॉकेट!?? मेरी कोट में!!?? नहीं मैंने ऐसा कोट कभी सिलवाया ही नहीं!" ....रोबर्ट अचकचाया,:"कोट मेरा ही है, टेलर का टैग/Level भी ठीक है, निःसंदेह यह मेरा ही कोट है, और मैंने कभी कोई सीक्रेट पॉकेट नहीं सिलवाया!" तब सियेना ने उसे उसकी आँखों के सामने उसी कोट में रोबर्ट को सीक्रेट पॉकेट के दर्शन कराये! रोबर्ट इतने नफासत से सिले सीक्रेट पॉकेट की स्लिट को देखकर हैरान रह गया! उसने उसमे हाथ डाला तो एक ऑब्जेक्ट a tube like object उसके हाथ लगा! उसने उसे निकालकर देखा और सियेना को दिखलाया! "मैंने इसे हॉस्पिटल में ही देख लिया था, लेकिन खोला नहीं, अब तुम इसे खोलो और देखो इसमें क्या है!...लेकिन होशियारी से!!" रोबर्ट फिर चकराया "क्यों क्या हुआ? ऐसा क्या है इसमें? ये है क्या"
उसने गौर से उस ट्यूब का मुआयना किया!
"Well, unfortunately", Sienna said, "I DO know what this is. And I'm fairly certain it's the reason someone is trying to kill you."  .....डॉक्टर सियेना ने एक्सप्लेन किया कि ऐसे ट्यूब को
बायो-ट्यूब कहते हैं इसे खोलने के लिए एक ख़ास (शुद्ध और सुरक्षित कॉस्टयूम और वातावरण की जरुरत होती है, क्योंकि ऐसे ट्यूब्स में "वायरस" को भी सुरक्षित ट्रांसपोर्ट किया जाता है! लेकिन अभी के असामान्य हालात में ऐसा संभव नहीं लगता; और जरुरी नहीं कि इसमें वायरस ही हो! रोबर्ट ने ट्यूब का और गहन मुआयना किया उस पर प्रिंटेड सिंबल को देखकर वह चौंका! और उसे पहचाना! (_किताब में देखिये, कैसा सिंबल ?_) इस ट्यूब पर एक Thumb-Pad है जो सिर्फ उसी के ऊँगली के स्कैन से खुलेगी जिसके; ट्यूब सील करने से पहले; कंप्यूटर द्वारा Thumb-Scan कर इसमें  feed किया गया हो! (....किताब पढो गुरूजीयों ) 
रोबर्ट ने जब अपना अंगूठा Thumb-Pad पर रखा तो एक क्लिक की आवाज़ से यह bio-tube खुल गया! अन्दर क्या है?? ______किताब पढ़िए!
_________________________________________
डॉ सियेना के cellphone से रोबर्ट अमेरिकन कांस्युलेट में फोन करता है और अपनी सारी बातें बतलाकर HELP की गुहार लगाता है, अमेरिकन कांस्युलेट अपने सम्मानित नागरिक की सहायता के लिए तुरंत तत्पर होकर रोबर्ट से उसका ठिकाना पूछता है! डॉ सियेना की सलाह और आँखों के इशारे से खिड़की से बाहर देखकर एक होटल का नाम और (अंदाजन एक) रूम नंबर बतला देता है! ...अब प्रतीक्षा, और होटल में जाने की तैयारी के दरम्यान उनकी दृष्टि सहसा खिड़की से बाहर होटल के सामने अभी-अभी रुके एक BMW_Motorcycle, काले चमड़े के कोट वाली, कांटेदार खड़े बालों वाली कद्दावर 'आर्म्ड' लड़की पर पड़ती है, जो होटल में प्रवेश कर चुकी है! ....इधर रोबर्ट लैंग्डन और Doctor Sienna Brooks के होशो-हवास उड़े हुए हैं ! "...कैसे, ...कैसे इसे पता चला कि ...." डॉ सियेना, रोबर्ट को फिर से घसीटती हुई बाहर निकलने के क्रम में बोलती है : "Robert," Sienna whispered, her voice taut with fear. "The U.S. Government just sent someone to kill you."
"RUN !" 'भागो ..........'
 **********
THE STORY TILL THE PAGE NUMBER, SIMPLY @ -55-
...बस्स, भईयवा, पईसा असूल हो गेलई !
अब आप स्वयं विचार करें कि कितने सवाल आपके जेहन में खलबली मचा रहे हैं; जबकि अभी पूरा का पूरा उपन्यास और 462 पृष्ठ बाकी है!!??
i n f e r n o
DAN BROWN  के इस नोवेल को पढने के दरम्यान मैंने पाया की इस नायब कथानक के ज़लाल को शेयर करना चाहिए! वो ही INGREDIENTS वो ही BLEND वो ही भाषाशैली वो ही कथानक के प्रस्तुति का ढंग सब कुछ वही, A Complete DAN BROWN novel! Friends, दिवंगत राजकपूर साहब, मनोज कुमार साहब, दिवंगत यश चोपड़ा साहब और श्री सुभाष घई की फिल्मो को आपने बराबर, बढियां से, और गौर से देखा है तो आपने अवश्य नोट किया होगा कि इनके अपने-अपने ingredients, blends, language, lyrics, music, dialogues, cinematography, camera angle, filming, choreography, और फिल्म को पेश करने presentation का ख़ास अंदाज़ रहा है। जिसे देखते ही सतोष होता है! ठीक उसी तरह लगातार निखरती जा रही DAN BROWN की लेखनी को पढना वैसे ही रोमांचक अहसास से हमारा पुनःपरिचय/मिलन कराते हुए हमें रहस्य रोमांच की उसी दुनिया की सैर कराता है जिससे वांछित भूख को शान्ति मिलती है...! मैंने मात्र 55-पृष्ठों की summary पेश की; उन्हीं पृष्ठों में निन्लिखित भी शामिल है, जो मेरी summary को concluding words प्रदान करता है :
>>>>>>>>>
On the Mendacium facilitator Knowlton watching the video he was supposed to share with the world tomorrow morning.:
लाल प्रकाश की आभा में ...  पानी के नीचे गुफा की कंदरा क्र दिवाल से सटा खड़ा विकृत सिर और चोंच जैसे मास्क सामान चेहरे और धधकती हरी ज्वाला जैसी आँखों वाली परछाईं की आवाज़ :
In a muffled voice, this deformed shadow spoke:

These are the new Dark Ages.
Centuries ago, Europe was in the depths of its own misery __ the population huddled, starving, mired in sin and hopelessness. They were as a congested forest, suffocated by deadwood, awaiting God's lightning strike __ the spark that would finally ignite the fire that would rage across the land and clear the deadwood, once again bringing sunshine to the healthy roots.
Culling is God's natural order.
Ask yourself, what followed the Black Death?
We all know the answer.
The Renaissance.
Rebirth.
It has always been this way. Death is followed by birth.
To reach the paradise, man must pass through inferno.
This, the master taught us.
And yet the silver-haired ignorant dares call me monster? Does she still not grasp the mathematics of the future? The horrors it will bring?
I am the shade.
I am your salvation.
And so I stand, deep within this cavern, gazing out across the lagoon that reflects no stars. Here in this sunken palace, Inferno smolders beneath the waters.
Soon it will burst into flames.
And when it does, nothing on earth will be able to stop it.
~~~~~~~~~~*****~~~~~~~~~~
इसके  भाद भागम-भाग,..................BOOM BOOM ............भागम भाग, मैं भागता हूँ आगे की कहानी पढने, आप भागिए किताब हथियाने, ...इस किताब की कहानी यहीं तक कहकर चुप रहना चाहूँगा!
नमस्ते,
_श्री .