Monday, January 7, 2013

& श्री आसाराम बापू उवाच TODAY : "::::::::::दिल्ली में हुई गैंग रेप के सन्दर्भ में ""::::::::::::`~*^%$#*&^%$#*~:::`गलती एक तरफ से नहीं होती!`,:::::::::::`लड़की को बलात्कारियों से दयायाचना कर लेनी चाहिए थी!!` ::::`उन्हें भाई मान लेती!`:::::, !!!""

फिर तो श्रीराम, लक्षुमन जी को भी रावण से दयायाचना कर लेनी चाहिए थी, वो माता सीता जी को मुक्त कर देता!? या माता सीता जी स्वयं रावण से निवेदन करतीं, वो उनका अपहरण ही न करता!!(...इस पॉइंट के लिए श्री रवीश भैया NDTVindia को प्रणाम।)

...संत की असंत वाणी!!

इसी के साथ देश में बयानबाजी की मैच शुरू .......